धौज में मेवात से भीड़ बुलाकर किया गया रोड जाम, कोट सहित कई गाँवों में डर का माहौल, हुई पंचायत

news

फरीदाबाद, 1 फ़रवरी: पाकिस्तानी, बांग्लादेशी और अफगानिस्तानी मुस्लिम घुसपैठियों को भारत की नागरिकता ना दिए जाने के लिए भारत सरकार ने CAA लागू किया है क्योंकि तीनों ही देश इस्लामिक स्टेट हैं और वहां पर मुस्लिमों के साथ धर्म के आधार पर उत्पीड़न नहीं होता वहीं तीनों देशों में अल्पसंख्यक हिन्दू, सिख, जैन, ईसाई अन्य के साथ धार्मिक आधार पर उत्पीड़न होने की ख़बरें आती रहती हैं इसलिए 2014 से पहले हिंदुस्तान में आये इन लोगों को नागरिकता देने का फैसला किया गया है. केंद्र सरकार ने तर्क दिया है कि आजादी के बाद धर्म के आधार पर देश का बँटवारा हुआ था, उस समय महात्मा गाँधी ने कहा था कि जो भी हिन्दू, सिख, जैन, ईसाई पाकिस्तान में छूट गए हैं वह कभी भी भारत आ सकते हैं. आज उसी कानून को लागू किया गया है.

हिंदुस्तान में कुछ मुस्लिम केंद्र सरकार के इस कानून का विरोध कर रहे हैं. इन्हें लगता है कि इस कानून में मुस्लिमों के साथ भेदभाव किया गया है जबकि केंद्र सरकार का कहना है कि भारत के किसी भी मुस्लिम का इस कानून से कोई लेना देना नहीं है, यह नागरिकता देने का कानून है, नागरिकता छीनने का नहीं।

दिल्ली के शाहीन बाग़ में करीब डेढ़ महीनें से रोड जाम करके धरना दिया जा रहा है जिसकी वजह से फरीदाबाद सहित दिल्ली एनसीआर के लाखों लोग परेशान हैं.

29 जनवरी 2020 को CAA/NRC के विरोध में मुस्लिम समाज के लोगों ने धौज गाँव में हाईवे को जाम कर दिया गया जिसकी वजह से आम जनता, स्कूली बच्चों और मरीजों को काफी परेशानी हुई. धौज गांव के उस तरफ भी फरीदाबाद के कई गाँव बसे हैं जिन्हें 29 जनवरी को काफी परेशानी हुई, जिनके बच्चे स्कूल गए थे वह कई घंटे रोड पर ही खड़े रहे, कोई अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल से लेने नहीं जा पाया, लोग अपने बच्चों को लेकर परेशान रहे, कई लोग सोहना होते हुए गुरुग्राम के रास्ते से इस पार आ पाए और 50 किलोमीटर का चक्कर लगाना पड़ा.

इसी बात को लेकर कोट गाँव में कल एक पंचायत बुलाई गयी जिसमें रोड जाम के खिलाफ नाराजगी प्रकट की गयी, पंचायत ने कहा कि हम लोग भाईचारा बनाकर रहते थे लेकिन 29 तारीख़ को मेवात और दिल्ली से हजारों लोगों को बुलाकर रोड जाम करवाया गया, इन लोगों ने भीड़ बुलाकर अपनी ताकत का प्रदर्शन करने का प्रयास किया है जिसकी वजह से हमारे और अन्य गाँवों में डर का माहौल है, इस अवसर पर पंचायत ने रोड जाम करने वालों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की, यह मांग भी की गयी कि आगे से रोड जाम ना किया जाए. गाँव वालों ने यह भी कहा हम लोगों के पास फरीदाबाद जाने के लिए धौज ही एकमात्र रास्ता है इसलिए हम सरकार से मांग करते हैं कि कोट मांगर का रास्ता पक्का बनवाया जाय ताकि हम लोग उस रास्ते का इस्तेमाल करके फरीदाबाद और दिल्ली आ जा सकें, इस अवसर पर गाँव वालों ने CAA और NRC का समर्थन भी किया। देखिये वीडियो –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *