IND vs NZ: प्रैक्टिस मैच में खुल गई भारतीय बल्लेबाजी की पोल, 10 रन के अंदर आउट हुए 8 भारतीय बल्लेबाज…

rochak news

न्यूजीलैंड दौरे के अंतिम चरण में पहुंच चुकी भारतीय टीम को अब 21 फरवरी से 2 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है। इससे पहले, टीम 2 तीन दिवसीय अभ्यास मैच खेलेगी। सेडान पार्क, हैमिल्टन में शुक्रवार से जारी पहले अभ्यास मैच में भारतीय खिलाड़ियों के प्रदर्शन को देखते हुए, ऐसा लगता है कि एकदिवसीय श्रृंखला की तरह, भारत को भी टेस्ट श्रृंखला का सामना करना पड़ सकता है। 5 मैचों की टी 20 सीरीज़ में, भारत ने एक ऐतिहासिक जीत दर्ज की, जिसमें विरोधी टीम का पक्ष रहा, लेकिन 3 मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला में, खराब गेंदबाजी और विकेट न मिलने के कारण, उन्हें 31 के बाद विदेशी धरती पर क्लीन स्वीप करना पड़ा था।

स्कॉट कुगेलिन के सामने भारतीय सलामी बल्लेबाज पस्त
सेडान पार्क में खेले जा रहे पहले अभ्यास मैच के दौरान, कीवी टीम ने भारतीय टीम को बिना टॉस किए पहले बल्लेबाजी करने के लिए आमंत्रित किया। भारतीय टीम ने इसे स्वीकार किया और पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल ने पारी को खोला। हालांकि, दोनों खिलाड़ी, जो भारत ए के साथ बहुत अच्छे फॉर्म में दिख रहे थे, 5 रनों के भीतर पवेलियन लौट गए। जब पृथ्वी शॉ खाता भी नहीं खोल पाए, तो मयंक अग्रवाल सिर्फ 1 रन बनाकर आउट हो गए। शुभमन गिल भी बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए। स्कॉट कुगेलिन ने सभी तीन खिलाड़ियों को वापस पवेलियन भेज दिया।

पुजारा-विहारी ने पारी को संभाला
5 रनों के भीतर 2 विकेट खोने के बाद, भारतीय टीम फिर से चेतेश्वर पुजारा (93) ने संभाली और अजिंक्य रहाणे के साथ पारी को आगे बढ़ाया। हालांकि, रहाणे भी 18 रन बनाकर जेम्स नीशम का शिकार हुए। यहां से हनुमा विहारी (101) ने पुजारा के साथ पारी को आगे बढ़ाया और 5 वें विकेट के लिए 195 रन जोड़े। पुजारा को गिब्सन ने आउट किया और विहारी रिटायर्ड हर्ट होकर वापस लौट आए।

इसके बाद कोई भी खिलाड़ी टिक नहीं सका और कीवी गेंदबाजों ने ईश सोढ़ी (3 विकेट) और जेक गिब्सन (2 विकेट) को बोल्ड किया। ऋषभ पंत 7 रन बनाकर सोढ़ी का शिकार बने, तो विक्रमन साहा, रविचंद्रन अश्विन भी खाता खोलने में नाकाम रहे। आखिरी विकेट के रूप में रवींद्र जडेजा 8 रन पर आउट हुए, जबकि उमेश यादव 9 रन बनाकर नाबाद रहे। भारतीय टीम की पहली पारी सिर्फ 263 रनों पर समाप्त हो गई। स्कॉट कुगेलिन और ईश सोढ़ी की गेंदबाजी टेस्ट सीरीज से पहले भारत के लिए बड़ी चुनौती साबित हो सकती है। ऐसे में अगर भारतीय टीम को अपना दबदबा कायम रखना है, तो उसके शीर्ष क्रम को एकदिवसीय श्रृंखला की गलती करने से बचना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *